News4All

Latest Online Breaking News

अररिया/ अनाज की लूट में डीलर से लेकर अधिकारी तक शामिल : विनोद मंडल

✍️ अंकित सिंह, भरगामा (अररिया)

भरगामा (अररिया) : प्रखंड क्षेत्र के शंकरपुर पंचायत से सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है । पंचायत समिति सदस्य विनोद मंडल ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि पीडीएस डीलर लाभुकों के साथ घोर अन्याय कर रही है ।  उन्होंने कहा कि शंकरपुर पंचायत में कुल 03 जनवितरण प्रणाली व एक पैक्स है । इन चारो सरकारी दुकानदारों का एमओ व एसडीओ से गहरा तालमेल है, मतलब यह है कि इन चारों डीलरों द्वारा एमओ और एसडीओ को प्रति महीना साहब द्वारा फिक्स राशि उन तक पहुंचा दी जाती है । जिस कारण बस इस पंचायतों में साहब को जांच करने को कोई जरूरत नहीं पड़ती है । अब आप खुद ही अंदाजा लगा सकते हैं की अगर पदाधिकारी का मिलीभगत हो और डीलरों को आनाज काटने के लिए छूट दे दिया गया हो तो डीलर प्रति यूनिट कितना माल काटेंगे और लाभुकों के साथ कैसा व्यवहार करेंगे । उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में डीलरों को समय रहते हुए सुधरने व अनाज नहीं काटने का आग्रह किया है ।

वहीं वार्ड सात के वार्ड सदस्य प्रतिनिधि सरोज सिंह ने कहा कि क्षेत्र में पीडीएस व्यवस्था पर अधिकारियों की पकड़ ढीली होने से लाभुकों को इसका उचित लाभ अब नहीं मिल रहा। लाभुकों का कहना है कि डीलर व अधिकारियों की मिलीभगत से चल रहे खेल की वजह से लाभुकों की बजाय अधिकारी व डीलर अपना पेट भर रहे हैं। पूरे क्षेत्र में पीडीएस की बिगड़ती हालत से बेखबर अधिकारी जांच के नाम पर मोटी रकम वसूल कर अपने पेट भरने में मशगूल हैं । जांच के नाम पर चल रहे गोरखधंधे की वजह से गरीब तबके के लोगों के बीच निराशा का भाव सरकार के प्रति जगने लगा है।

एक किलो अनाज कम

वितरण व्यवस्था को लेकर जारी नई गाइडलाइन के अनुसार प्रति यूनिट चार किलो चावल व एक किलो गेंहू का वितरण लाभुकों को किया जाना है लेकिन जमीनी हकीकत यह की धड़ल्ले से लाभुकों का प्रति यूनिट पांच किलो अनाज की बजाय प्रति यूनिट चार किलो अनाज दिया जा रहा है जिससे निम्न स्तरीय कार्डधारियों को परिवार के भरण पोषण में काफी जद्दोजहद करनी पड़ रही है।

वसूली में लगे अधिकारी

नाम नहीं छापने की शर्त पर भरगामा प्रखंड क्षेत्र के कुछ डीलर एवं पैक्स अध्यक्ष ने बताया की पीडीएस में मामूली कमीशन इसके बाद गोदाम प्रबंधक लाने का किराया व अन्य तरह के खर्चे को जोड़ दे तब डीलर के हाथ आमदनी के रूप में कुछ रकम ही आती है जिससे डीलर के परिवार का भरण पोषण मुश्किल है,ऐसे में थोड़ा बहुत गड़बड़ी सभी जगह चलता है। कुछ डीलर ने बताया कि प्रत्येक माह कमीशन के नाम पर तय हिस्सा एमओ व एसडीओ को देना पड़ता है,क्योंकि उन्ही के आदेश पर आवंटन देता है,नहीं देने पर लाइसेंस रद्द करने की धमकी देते हैं,क्या करें जमीन बेचकर तो नहीं देंगे। उसी में से काट छांट बचाते हैं फिर बेचकर महीनों का तय हिस्सा देते हैं।

इस संबंध में भरगामा एमओ रामकल्याण ने बताया कि मैं तो अभी इस क्षेत्र में नया आया हूं, लेकिन आने के साथ शिकायत मिलने पर शंकरपुर सहित कई पंचायतों के जन वितरण प्रणाली के डीलर का जांच में गड़बड़ी पाए जाने पर कठोर कार्रवाई की गई है. मैं शंकरपुर पंचायत के सभी जन वितरण प्रणाली का जल्द जांच करूंगा जांच के क्रम में दोषी पाए गए डीलर को किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा ।

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.