News4All

Latest Online Breaking News

चंडीगढ़/ सेबी के सहयोग से सिटीजन अवेयरनेस ग्रुप ने इंवेस्टर्स अवेयरनेस प्रोग्राम किया आयोजित

✍️ सोहन रावत, चंडीगढ़


चंडीगढ़, : सिक्युरिटीज एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (सेबी) के सहयोग से सिटीजन अवेयरनेस ग्रुप ने मंगलवार को चंडीगढ़ प्रेस क्लब में एक इंवेस्टर्स अवेयरनेस प्रोग्राम (आईएपी) का आयोजन किया।

कार्यक्रम का उद्देश्य निवेशकों को प्रतिभूति बाजार(सिक्युरिटीज मार्किट) में उपलब्ध निवेश के अवसरों के बारे में शिक्षित करना और उन्हें फाइनेंस मार्किट में डिलिंग करते समय अधिकारों और दायित्वों से अवगत कराना था। प्रतिभागियों को  सिक्युरिटीज   ट्रेड और ट्रांसफर, फ्रोड इन हॉलिडिंग सिक्युरिटीज इन डिपॉजिटरी और धोखाधड़ी के जोखिम और डिपॉजिटरी सिस्टम में शेयरों के बदले बैंक से ऋण की उपलब्धता से संबंधित प्रक्रिया पर उन्हें अपनी पसंद के बैंक के पक्ष में गिरवी रखने के बारे में बताया गया।

सिटीजन अवेयरनेस ग्रुप के चेयरमेन श्री सुरिंदर वर्मा ने कहा, हर कोई विशाल बाजार में निवेश करके पैसा कमाना चाहता है। विभिन्न कंपनियों ने शिक्षित युवाओं को रोजगार दिया है और उन्हें बड़ा लक्ष्य दिया है। लेकिन एक निवेशक यह जानने में विफल रहता है कि उसके पैसे का क्या हुआ है। लोगों को पैसा लगाने के लिए अच्छी कंपनियों की तलाश करनी चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि निवेश करते समय उन लक्ष्यों को समझना चाहिए जिन्हें वे प्राप्त करना चाहते हैं।

सेबी के असिस्टेंट जनरल मैनेजर मोहिता एस दहिया ने कहा कि सेबी जैसे बाजार नियामकों की उपस्थिति और विभिन्न स्टॉक एक्सचेंजों द्वारा अपनाए गए सुरक्षित विनियमन के कारण, बाजार छोटे और मध्यम निवेशकों के लिए कहीं अधिक सुरक्षित हो गया है। यदि निवेशक उस कंपनी के बारे में मौलिक ज्ञान से लैस बाजार में प्रवेश करता है जिसमें वे निवेश करने का इरादा रखते हैं, तो उनके पास स्थिर लाभ कमाने का काफी अच्छा मौका होता है। दहिया ने पूंजी बाजार के कई पहलुओं जैसे निवेशकों के कर्तव्यों, निवेशक संरक्षण दिशानिर्देश व्यापार और जोखिम प्रबंधन आदि पर ध्यान देने की बात कही।

एनएसई के सीनियर मैनेजर संजीव तालुकदार ने कहा कि इक्विटी निवेश का सबसे अच्छा वर्ग है और मुद्रास्फीति के खिलाफ एक प्रभावी बढ़त है। उन्होंने मजबूत अर्थव्यवस्था के विकास के लिए वित्तीय बाजारों को जनता तक ले जाने के महत्व पर प्रकाश डाला और निवेश करते समय निवेशकों द्वारा उठाए जाने वाले कदमों की व्याख्या की। उन्होंने सलाह दी कि संबंधित कंपनी की परफॉरमेंस पर पूरी तरह से अध्ययन करने के बाद ही शेयरों को खरीदना चाहिए।

कार्यक्रम में लगभग 100 निवेशकों ने भाग लिया और उनके द्वारा पूछे गए प्रश्नों का उत्तर पैनलिस्टों द्वारा सत्र के दौरान दिया गया। मोहिंदर कटारिया ने धन्यवाद प्रस्ताव दिया और निवेशकों को सलाह दी कि अन्य निवेशों की तुलना में इक्विटी ने बेहतर प्रदर्शन किया है और यह लंबी अवधि के लिए सर्वश्रेष्ठ हैं।

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.