News4All

Latest Online Breaking News

मोहाली/ वर्ल्ड सीनियर सिटिजंस डे पर लगभग 200 सीनियर सिटिजंस ने न्यूरो, ऑर्थो पर हेल्थ टॉक में लिया भाग

मोहाली : वर्ल्ड सीनियर सिटिजंस डे के उपलक्ष्य में मैक्स हॉस्पिटल, मोहाली द्वारा न्यूरोलॉजी और ऑर्थोपेडिक्स पर आयोजित हेल्थ टॉक में 200 से अधिक सीनियर सिटिजंस ने भाग लिया। हेल्थ टॉक, सीनियर सिटीजन एसोसिएशन फेज 3बी1 मोहाली, सीनियर सिटीजन एसोसिएशन सेक्टर 38, चंडीगढ़ और रोटरी क्लब, मोहाली के सहयोग से आयोजित की गई थी।

टॉक को संबोधित करते हुए ऑर्थो के डायरेक्टर डॉ. जितेंद्र सिंगला ने कहा, ”आर्थराइटिस का मतलब एक या अधिक जोड़ों की सूजन। गठिया के लक्षण अलग-अलग होते हैं लेकिन आमतौर पर उम्र के साथ लोगों को दर्द और जकड़न का अनुभव होता है।” उन्होंने आगे कहा कि जोड़ों को प्रभावित करने वाला दर्द चलने-फिरने के दौरान या उसके बाद दर्द दे सकता है । जब आप अपने जोड़ पर या उसके आस-पास हल्का दबाव डालते हैं तो हल्का दर्द महसूस हो सकता है। लचीलेपन में कमी, हड्डी में ऐंठन और सूजन कुछ अन्य ध्यान देने योग्य लक्षण हैं।यह दर्द बुखार के साथ आता है और यह तेजी से विकसित होता है ।

मैक्स में न्यूरोलॉजी के सलाहकार डॉ. राहुल महाजन ने कहा, “बढ़ती उम्र के साथ, हम अपने शरीर में सिरदर्द, माइग्रेन, स्ट्रोक, स्मृति हानि, चलने और बोलने में कठिनाई जैसे परिवर्तन देखते हैं। 55 साल की उम्र के बाद बुजुर्ग व्यक्तियों में न्यूरोलॉजिकल समस्या से पीड़ित होने की संभावना अधिक होती है क्योंकि हमारा मस्तिष्क भी उम्र बढ़ने की प्रक्रिया से गुजर रहे होते हैं।” यह एक कारण है कि बुजुर्ग व्यक्तियों में न्यूरोलॉजिकल समस्याओं से पीड़ित होने की संभावना अधिक होती है। डॉ. राहुल ने कहा कि नियमित व्यायाम, धूम्रपान और तंबाकू उत्पादों को छोड़ना, भरपूर आराम करना, मधुमेह, उच्च रक्तचाप का ध्यान रखना, विटामिन बी 6, बी 12 के पर्याप्त स्रोतों के साथ संतुलित आहार से न्यूरोलॉजिकल समस्याओं को दूर रखा जा सकता है।

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.