News4All

Latest Online Breaking News

दरभंगा/ तकनीकी पदाधिकारी की बैठक में कई योजनाओं की हुई समीक्षा

दरभंगा : समाहरणालय अवस्थित बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेदकर सभागार में सोमवार को जिलाधिकारी राजीव रौशन की अध्यक्षता में तकनीकी पदाधिकारियों की बैठक आयोजित की गयी । बैठक में स्थानीय क्षेत्र अभियंत्रण संगठन, कार्य प्रमण्डल – 1, दरभंगा द्वारा बताया गया कि मुख्यमंत्री क्षेत्रीय विकास योजना के अन्तर्गत 249 योजनाओं पर कार्य चल रहा है। दरभंगा ग्रामीण एवं दरभंगा शहरी क्षेत्र के 144 योजनाओं में कार्य किया जाना है, जिनमे कार्य एजेन्सी नियुक्त किया जाना है।

कब्रिस्तान घेराबन्दी के संबंध में बताया गया कि वर्ष 2006-2007 में दरभंगा के 289 कब्रिस्तानों की घेराबन्दी करने का लक्ष्य प्राप्त हुआ था, जो पूर्ण किया जा चुका है।

पंचायत सरकार भवन के संबंध में बताया गया कि जिले में 57 पंचायत सरकार भवन ग्राम पंचायतों द्वारा बनवाया गया है। पुनः 76 नया पंचायत सरकार भवन निर्माण का लक्ष्य प्राप्त है, जिनमें से 18 के लिए भूमि चिन्ह्ति किया जा चुका है।

बताया गया कि पंचायत सरकार भवन में कार्यपालक सहायक नियमित रूप से बैठ रहे हैं, लेकिन अभी भी किसान सलाहकार, विकास मित्र, पी.आर.एस. सहित अन्य पंचायत स्तरीय कर्मचारी पंचायत सरकार भवन में नियमित रूप से नहीं बैठ रहे हैं।

जिलाधिकारी ने जिला पंचायती राज पदाधिकारी को सभी संबंधित कर्मी के जिला स्तरीय पदाधिकारी को इस आशय का पत्र जारी करने का निर्देश दिया कि वे सुनिश्चित करावें कि उनके पंचायत स्तरीय कर्मी पंचायत सरकार भवन में प्रतिदिन बैठें और वहाँ की उपस्थिति पंजी में अपनी उपस्थिति दर्ज करावें। उसी पंजी के आधार पर उनके वेतन का भुगतान किया जाए।

स्थानीय क्षेत्र अभियंत्रण संगठन, कार्य प्रमण्डल – 2, बेनीपुर के कार्यपालक अभियंता ने बताया कि मुख्यमंत्री क्षेत्र विकास योजना की 91 योजनाओं पर कार्य किया जाना है।

जिलाधिकारी ने कहा कि सभी तकनीकी विभाग यह सुनिश्चित करें, कि सड़क निर्माण के दौरान ग्रेड – वन से ग्रेड – टू तक कार्य किये जाने के दौरान अभियंताओं द्वारा नियमित रूप से सड़कों की जाँच की जाए और कार्य पूर्णतः के उपरान्त भी एक बार जाँच कर ली जाए। कार्य आवंटन के पश्चात यदि कोई एजेन्सी काम नहीं कर रहा है, तो 01 महीने के पश्चात् दूसरे एजेन्सी से रि-साईन करने की कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि बाढ़ आने से पहले जिले के सभी सड़कों को दुरूस्त कर लिया जाए।

उन्होंने आदेश दिया कि प्रत्येक प्रखण्ड के प्रखण्ड विकास पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारी को बुलाकर एक टीम गठित की जाए तथा पथ निर्माण विभाग, ग्रामीण कार्य विभाग व स्थानीय क्षेत्र अभियंत्रण संगठन की सभी सड़कों की जाँच करा ली जाए।

उन्होंने इसके लिए एक मैप तैयार करवाने का निर्देश दिया, जिसमें सभी विभागों की सड़के, विभागवार चिन्ह्ति किया जा सके।

बैठक में बताया गया कि 17वीं विधान सभा में मुख्यमंत्री क्षेत्र विकास योजना के अन्तर्गत स्थानीय क्षेत्र अभियंत्रण संगठन को 19 योजनाओं की अनुशंसा प्राप्त हुई है। बैठक में मंदिर घेराबन्दी कार्य की भी समीक्षा की गयी।

प्रेक्षागृह के संबंध में भवन निर्माण निगम लिमिटेड के कार्यपालक अभियंता ने बताया कि सभी कार्य पूर्ण है, केवल ऑडियो वीडियो प्रोजेक्शन का कार्य किया जाना बाकी है, इसके लिए नये एजेन्सी को कार्य आवंटित करने की कार्रवाई की जा रही है। जिलाधिकारी ने इसे 01 महीने के अन्दर पूर्ण कराने का निर्देश दिया।

जिलाधिकारी ने कहा कि शहरी क्षेत्र के समीप 03-03 एकड़ जमीन सिवरेज ट्रिर्टेमेन्ट प्लांट के लिए चिन्ह्ति किया जाए, जहाँ प्लांट संस्थापित करवाया जा सके, ताकि नालो की पानी का ट्रिर्टेमेन्ट कर इसे नदी में गिराया जा सके।

ग्रामीण कार्य विभाग, दरभंगा ने बताया कि उनकी 67 योजनाओं पर कार्य चल रहा है। ग्रामीण कार्य विभाग – 2 के द्वारा बताया गया कि उनकी 123 योजनाओं पर कार्य चल रहा है।

दरभंगा हवाई अड्डा के कार्यों की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने दरभंगा हवाई अड्डा के समीप अस्थायी पार्किग निर्माण के लिए चिन्हित स्थल को मनरेगा से मिट्टी भराई एवं जी.एस.बी. निर्माण की कार्रवाई करवाने हेतु उप विकास आयुक्त को निर्देश दिया।

बिहार राज्य चिकित्सा अधारभूत संरचना द्वारा बताया गया कि प्रत्येक विधान सभा में 05-05 चिकित्सा केन्द्र बनाने की कार्रवाई तेजी से चल रही है, बताया गया कि केवल 10 चिकित्सा केन्द्र के लिए स्थल चिन्ह्ति किया जाना शेष रह गया है। जिलाधिकारी ने उन स्थलों की सूची उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।

शिक्षा विभाग के आधारभूत संरचना के कार्यपालक अभियंता ने बताया कि विद्यालयों के 114 योजनाएँ पूर्ण की जा चुकी है, केवल 07 लंबित है।

जिलाधिकारी ने पी.एच.ई.डी. के कार्यपालक अभियंता को धरना स्थल पर एक चापाकल गड़वाने का निर्देश दिया। एकमी-सिरनियाँ बांध के किनारे अवैध मिट्टी भराई के संबंध में बताया गया कि संबंधित व्यक्ति द्वारा धीरे-धीरे मिट्टी को हटाया जा रहा है।

जिला पंचायती राज पदाधिकारी के द्वारा बताया गया कि अनेक सड़क निर्माण एजेन्सी द्वारा कार्य के दौरान नल-जल योजना की पाईप क्षतिग्रस्त कर दिये गये है। जिलाधिकारी ने निदेशित किया कि जिस विभाग के द्वारा सड़क निर्माण करवाया गया है, उस विभाग के द्वारा उस क्षतिग्रस्त पाईप को दुरूस्त करवाया जाए।

उन्होंने बाढ़ से संबंधित सभी लंबित कार्य को तुरंत करवा लेने का निर्देश दिया। तटबंध के निरीक्षण के संबंध में बताया गया कि संबंधित अभियंताओं द्वारा तटबंध का निरीक्षण किया जा रहा है।

बैठक में उप विकास आयुक्त अम्रिषा बैंस, उप निदेशक, जन सम्पर्क नागेन्द्र कुमार गुप्ता, जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी मो. रिजवान अहमद, जिला पंचायत राज पदाधिकारी आलोक राज, जिला योजना पदाधिकारी नवीन कुमार सहित सभी तकनीकी विभागों के कार्यपालक अभियंतागण एवं अन्य संबंधित पदाधिकारी उपस्थितl

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.