News4All

Latest Online Breaking News

चंडीगढ़/ पंजाब राज भवन द्वारा महाराष्ट्र एवं गुजरात स्थापना दिवस समारोह का किया गया आयोजन

विविध संस्कृतियों वाला चंडीगढ़ वास्तव में मिनी इंडिया : बनवारी लाल पुरोहित

चंडीगढ़ : शहर में विभिन्न सांस्कृतिक समुदायों के बीच राष्ट्रीय एकता और सद्भावना को बढ़ावा देने के लिए, पंजाब राजभवन में 1 मई को राजभवन परिसर में मौजूद गुरु नानक सभागार में महाराष्ट्र और गुजरात के स्थापना दिवस समारोह का आयोजन किया गया।

पंजाब के राज्यपाल और यू.टी., चंडीगढ़ के प्रशासक श्री बनवारी लाल पुरोहित ने कहा कि स्थापना दिवस एक विशेष दिन होता है जिसमें राज्य अपनी स्थापना का जश्न मनाते हैं। अन्य राज्यों के स्थापना दिवस को मनाने का हमारा उद्देश्य अपने देश के विभिन्न क्षेत्रों के बीच आपसी सम्मान और सामंजस्य को बढ़ावा देना है। उन्होंने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने अपनी ‘‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत” पहल के हिस्से के रूप में नियमित रूप से हर राज्य की विरासत और परंपराओं का जश्न मनाने पर जोर दिया है और यह उत्सव उसी भावना के अनुरूप है।

राज्यपाल ने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि एक मजबूत और एकजुट देश के निर्माण के लिए राष्ट्रीय एकता बहुत महत्वपूर्ण है। अन्य राज्यों के स्थापना दिवस मनाकर, हम समावेशिता और आपसी सम्मान का वातावरण बनाने की उम्मीद करते हैं, जो हमारे विविधताओं से भरे देश के लिए आवश्यक मूल्य हैं”। इस अवसर पर बोलते हुए श्री पुरोहित ने कहा कि चंडीगढ़ एक जीवंत और विविध संस्कृतियों का शहर है जहां विभिन्न क्षेत्रों के लोग एक-दूसरे के साथ मिल-जुलकर रहते हैं। चंडीगढ़ वास्तव में एक मिनी भारत है जहां विभिन्न राज्यों के लोग सद्भाव से रहते हैं जो विविधता में एकता की भारत की वास्तविक तस्वीर पेश करते हैं। उन्होंने कहा कि मराठी, गुजराती, बंगाली, राजस्थानी, केरल या तमिल सभी समुदायों ने सिटी ब्यूटीफुल की प्रगति में महत्वपूर्ण योगदान दिया है और शहर को अपनी संस्कृति और परंपराओं से समृद्ध किया है। पुरोहित ने कहा, ‘‘आइए, हम अपनी विविधताओं के साथ एक संयुक्त और सामंजस्यपूर्ण भारत की दिशा में काम करें”। उन्होंने आशा व्यक्त की कि यह उत्सव अपने मूल राज्यों से दूर रहने वाले समुदायों के बीच अपनेपन की भावना पैदा करेगा।

इससे पहले राज्यपाल ने अपने संबोधन में अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस के अवसर पर समर्पित श्रमिकों को पंजाब और राष्ट्र के निर्माण में उनके बहुमुखी योगदान के लिए बधाई दी।
इस समारोह दौरान उत्तर क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र (एन.जेड.सी.सी.) के कलाकारों द्वारा महाराष्ट्रियन और गुजराती नृत्य प्रदर्शन का एक रंगा-रंग कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया। गुजराती डांडिया, राठवा और सिद्दी धमाल और महाराष्ट्रीयन लावणी और गोंधल ने दर्शकों का मन मोह लिया।

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.