News4All

Latest Online Breaking News

पंचकूला/ राजकीय महाविद्यालय, सेक्टर-1 में सड़क सुरक्षा पर एक दिवसीय कार्यशाला का किया गया आयोजन

पंचकूला : श्रीमाता मनसा देवी संस्कृत कॉलेज द्वारा सड़क सुरक्षा संगठन के सहयोग से कल सेक्टर-1 स्थित राजकीय महाविद्यालय में सड़क सुरक्षा पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में हरियाणा पुलिस के महानिदेशक और हरियाणा पुलिस हाउसिंग कार्पोरेशन के प्रबंध निदेशक डॉ रमेश चंद्र मिश्रा बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहे।

कार्यशाला के उद्घाटन सत्र में विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए डॉ मिश्रा ने कहा कि हर सड़क हादसे में चालक की ही गलती हो यह जरूरी नहीं। अक्सर दूसरों की लापरवाही का नतीजा हादसे के रूप में हम सबके सामने आता है। कभी खराब सड़क तो कभी यातायात संकेतकों की अवहेलना सड़क हादसों का कारण बनता है।

सड़क हादसों के संभावित कारणों पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि हरियाणा पुलिस सड़कों की तकनीकी खामियों को पहचानने के लिए यातायात इंजीनियरों के साथ ही विभिन्न शैक्षणिक और गैर शैक्षणिक संस्थानों में जागरूकता अभियानों और सड़कों पर यातायात नियमों का सख्ती से पालन करवाने के लिए सदैव तत्पर है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों में सड़क सुरक्षा जागरूकता के लिए सड़क सुरक्षा को स्कूल और कॉलेज स्तर पर पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाया जाना आज के समय की जरूरत है।

कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित सड़क सुरक्षा संगठन पंचकूला के अध्यक्ष दीप किशन चैहान ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि उनके संगठन का मकसद आम नागरिकों में सड़क सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए जागरूकता फैलाना है, ताकि किसी को असमय ही अपनी जान गंवानी न पड़े। उन्होंने कहा कि हम सभी की नैतिक जिम्मेदारी है कि सड़क हादसों को रोकने के लिए सड़क सुरक्षा से संबंधित नियमों का पालन करें और अपने घर-परिवार के सदस्यों, मित्रों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करें।

कार्यशाला की शुरुआत दीप प्रज्जवलन के साथ हुई। तत्पश्चात श्री माता मनसा देवी राजकीय संस्कृत कॉलेज की प्राचार्या रीटा गुप्ता ने कार्यशाला के मुख्य अतिथि और सेक्टर -1 कॉलेज के प्राचार्य डी एस लांबा ने वक्ताओं का स्वागत पुष्पगुच्छ देकर और बैज लगा कर किया। सड़क सुरक्षा पर प्राचार्या रीटा गुप्ता ने कहा कि यातायात नियमों का पालन सभी के लिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि सड़क दुर्घटना किसी के साथ भी हो सकती है। इसके कारण परिवार को अपूरणीय  क्षति पहुंचने की संभावना बनी रहती हैं। कार्यशाला का संचालन सेक्टर -1 कॉलेज के पत्रकारिता विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ अनिल कुमार पाण्डेय द्वारा किया गया। वहीं मनसा देवी कॉलेज की एसोसिएट प्रोफेसर डॉ रेणुका ध्यानी ने कार्यशाला में उपस्थित अतिथियों समेत कार्यशाला में प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से जुड़े सहयोगियों का आभार माना।

कार्यशाला में पंचकूला जिले के सभी राजकीय महाविद्यालयों के विद्यार्थी और प्राध्यापकगण बड़ी संख्या में उपस्थित रहे। कार्यशाला के आयोजन में सेक्टर -1 कॉलेज के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ जितेंद्र कुमार, प्रो राम मेहर, असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ चित्रा सिंह, संध्या, यामिनी और श्रीमता मनसा देवी कॉलेज के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ राजबीर कौशिक का विशेष सहयोग रहा।

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.