News4All

Latest Online Breaking News

सहरसा/ कोविड टीकाकरण महाअभियान में लगाये गये 90 हजार से अधिक टीके : सिविल सर्जन

: न्यूज़ डेस्क :

 

आयोजित किये गये 303 टीकाकरण सत्र स्थल

जिलाधिकारी सहित स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों द्वारा किया गया पर्यवेक्षण

सहरसा :  जिले में बीते 28 अक्टूबर को सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देश के आलोक में महाअभियान चलाते हुए 18 वर्ष से ऊपर के 90 हजार से अधिक लोगों को कोविड- 19 का टीका लगाया गया। इस अभियान की सफलता के लिए जिलाधिकारी कौशल कुमार द्वारा बैठक कर एक लाख टीके लगाने का लक्ष्य दिया गया था। तटबंधों के भीतर समय से टीकाकरण आरंभ करने के लिए दलों को एक दिन पूर्व ही रवाना कर दिया गया था। मतदाता सूची के आधार पर घर-घर जाकर कराये गये महासर्वे एवं उसके आधार पर बनाये गये माइक्रोप्लान के अनुसार जिले में इस महाअभियान को सफल बनाने के लिए कुल 303 टीकाकरण सत्र स्थल भी बनाये गये थे।

एक भी घर न छूटे, वंचितों को घर-घर जाकर किया गया जागरूक

सिविल सर्जन डा. अवधेश कुमार ने बताया इस महाअभियान के दौरान जिले में चल रहे पंचायत चुनाव के मतदाता सूची के आधार पर घर-घर जाकर महासर्वे करते हुए बनाये गये माइक्रोप्लान के अनुरूप वंचित लाभार्थियों के घर-घर जाकर लोगों को जागरूक करते हुए टीका लगाया गया। इस काम में स्वास्थ्य विभाग के सहयोगी संस्था डब्ल्यूएचओ, यूनिसेफ, यूएनडीपी, केयर इंडिया आदि के प्रतिनिधि ने पूरे दिन सहयोग किया। उन्होंने बताया इस महाअभियान को सफल बनाने के लिए स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारी सहित सहयोगी संस्था के प्रतिनिधियों द्वारा सतत् पर्यवेक्षण किया जाता रहा। वहीं जिलाधिकारी कौशल कुमार द्वारा भी महाअभियान को सफल बनाने में समय-समय पर आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किया जाता रहा।

दूसरा डोज लेने वालों की संख्या बढ़ी

सिविल सर्जन डा. अवधेश कुमार ने बताया जिले में कोविड- 19 टीकाकारण आरंभ किये काफी समय बीत चुके हैं। वैसे लोगों की संख्या अब अधिक हो गई है जिनको पहला डोज लगाये हुए 80 दिन या इससे अधिक हो चुका है। ऐसे में दूसरा डोज लेने वालों की संख्या को देखते हुए प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण सत्र स्थल जिले में बनाये गये थे। जिसका परिणाम यह हुआ कि महाअभियान के दिन दूसरे डोज लेने वालों की संख्या प्रथम डोज से अधिक रही। इस महाअभियान में दूसरे डोज लेने वालों की संख्या 50 हजार से अधिक रही वहीं पहला डोज लेने वालों की संख्या 40 हजार से अधिक की रही।

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.