सहरसा/ प्रसव पूर्व जांच कराना गर्भवती माताओं के लिए जरूरी – News4 All

News4 All

Latest Online Breaking News

सहरसा/ प्रसव पूर्व जांच कराना गर्भवती माताओं के लिए जरूरी

😊 Please Share This News 😊

सभी सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में आज चलेगा विशेष अभियान

होगी कई प्रकार की आवश्यक जांच

सहरसा : जिले में प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान जोर-शोर से चल रहा है। यह अभियान जिले के शहरी क्षेत्र सहित सभी प्रखंडों में बड़े पैमाने पर कार्यक्रम आयोजित कर चलाया जा रहा है । प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत जिले की सभी गर्भवती माताओं की प्रसव पूर्व चार जांच की जाती है। प्रसव पूर्व चार जांचों के दौरान गर्भवती माताओं की प्रसव क्रियाओं के जोखिम के स्तर का पता चल जाता है। जिससे मातृ शिशु मृत्यु दर पर काफी हद तक नियंत्रण पाया जा सकता है। प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान को सफल बनाने के लिए सामुदायिक स्तर पर कार्य कर रहे एएनएम एवं आशा कार्यकर्त्ता अपने पोषक क्षेत्र में गृह भ्रमण का गर्भवती माताओं को सूचीबद्ध कर उनकी प्रसव पूर्व चार जांच करवाना सुनिश्चित करती हैं। यह जांच योग्य एवं विशेषज्ञ चिकित्सकों की देख रेख में की जाती है। इसमें कई प्रकार की जांच भी शामिल हैं।

सिविल सर्जन डा. किशोर कुमार मधुप ने बताया मातृ शिशु दर को कम करने के उद्देश्य से सरकार द्वारा जिले में प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत जिले की सभी गर्भवती माताओं की प्रसव पूर्व चार जांच की जाती है। गर्भवती माताओं को अपने क्षेत्र में एएनएम/आशा/स्वास्थ्य कार्यकर्त्ताओं से संपर्क करनी चाहिए ताकि निकटम सरकारी स्वास्थ्य सुविधा के बारे में जानकारी मिल पाये जहां प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान की सेवाएं सरकार द्वारा प्रदान की जाएंगी। प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत उन्हें कई प्रकार की सुविधाएं मिल पाती हैं। सबसे पहले उनका पंजीकरण किया जाता है। पंजीकरण कर गर्भवती माताओं को सुरक्षित मातृत्व पुस्तिका प्रदान की जाती है। गर्भवती माताओं की ऊँचाई, वजन , नब्ज, बीपी आदि की जांच की जाती और उस निष्कर्षों को संधारित किया जाता है। गर्भवती माताओं की कई प्रकार की जांच मुफ्त की जाती हैं, जैसे- हीमो ग्लोबिन, यूरिन एल्बुमिन, शुगर, मलेरिया, वीडीआरएल, एचआईवी, रक्त ग्रुप, आदि। इस दौरान उन्हें टीटी, आयरन टैबलेट, फोलिक एसिड, कैल्शसयम टैबलेट एवं चिकित्सा आधारित अन्य परामर्श की दवाएं प्रदान की जाती हैं। सभी गर्भवती माताओं को आहार, नींद, नियमित एएनसी जांच, संस्थागत प्रसव, स्तनपान, गर्भ निरोधक आदि पर सामूहिक परामर्श प्रदान किया जाता है। यही नहीं दुर्गम क्षेत्रों में रहने वाली गर्भवती माताओं को परिवहन की सुविधाएं प्रदान की जाती हैं। उन्होंने बताया जिले में प्रत्येक माह की 9वीं एवं 21वीं तिथि को सभी सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों पर प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत कार्यक्रमों का आयोजन कर गर्भवती माताओं की जांच एवं दवाएं मुफ्त में प्रदान की जाती हैं।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]
error: Content is protected !!