हावड़ा/ कोरोना वायरस की समाप्ति एवं विश्व शांति हेतु कर्णगोष्ठी महिला ग्रुप का ऑनलाइन भक्ति कार्यक्रम लगातार जारी – News4 All

News4 All

Latest Online Breaking News

हावड़ा/ कोरोना वायरस की समाप्ति एवं विश्व शांति हेतु कर्णगोष्ठी महिला ग्रुप का ऑनलाइन भक्ति कार्यक्रम लगातार जारी

😊 Please Share This News 😊

: न्यूज़ डेस्क :

लगभग दस देशों की हजारों चित्रांश महिलाएँ ले रही भाग

पिछले वर्ष भी लगातार 24 घंटे के ऑनलाइन अष्टयाम का किया गया था आयोजन

 

हावड़ा : कोरोना रूपी वैश्विक महामारी के प्रकोप से सारा विश्व त्राहिमाम कर रहा है । विकट परिस्थितियों के कारण मनुष्यों में निराशा एवं भय का संचारण हो रहा है । ऐसी स्थिति देख कर कर्णगोष्ठ महिला ग्रुप की महिलाओं ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कोरोना से मुक्ति, सभी मनुष्यों में आत्मवल वृद्धि एवं विश्व शांति हेतु प्रत्येक शनिवार एवं मंगलवार को 108 बार हनुमान चालीसा एवं सुंदरकांड के पाठ और शाम में आरती एवं भजन का संकल्प लिया ।

संकल्पित महिलाओं ने 1 मई 2021 से प्रत्येक शनिवार एवं मंगलवार को यह पाठ प्रारंभ कर दिया है । कर्णगोष्ठी महिला ग्रुप की देश – विदेश में फैले दर्जनों उपसमूहों द्वारा बारी बारी से यह पाठ किया जा रहा है । प्रत्येक उपसमूहों के एडमिन टीम के द्वारा अन्य सदस्यों के सामूहिक प्रयास से इस कार्यक्रम का संचालन किया जा रहा है ।

कर्णगोष्ठी महिला ग्रुप की संस्थापिका सह अंतरराष्ट्रीय अध्यक्षा सुनीता दास ने बताया कि जब तक उनके सभी उपसमूहों द्वारा यह पाठ न कर लिया जाएगा तब तक यह कार्यक्रम प्रत्येक शनिवार व मंगलवार को लगातार जारी रहेगा । उन्होंने बताया कि देश विदेश की सभी सदस्या व एडमिन समूह इस विशेष कार्यक्रम में बढ़ चढ़कर भाग ले रही हैं । सुनीता दास ने विशेष रूप से जमशेदपुर की एडमिन राधा कुमारी एवं बोकारो की एडमिन पुष्पा कर्ण का विशेष आभार प्रकट करते हुए कहा कि उनके सहयोग से ही इस विशेष कार्यक्रम को अमली जामा पहनाया जा सका है । हालाँकि उन्होनें अपने ग्रुप की दस हजार से अधिक महिला सदस्यों का भी आभार जताया, जिनके सहयोग से कर्णगोष्ठी महिला ग्रुप नित नई ऊँचाइयों को छू रहा है ।

ज्ञात हो कि इसी ग्रुप ने पिछले वर्ष 24 घंटे का ऑनलाइन अष्टयाम का भी आयोजन किया था । यह ऑनलाइन अष्टयाम अपने आप में एक अलग पहचान बनाने में सफल रहा था ।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

[responsive-slider id=1466]
error: Content is protected !!